porno

bakırköy escort

विकास दुबे कौन था, जिन्होंने कानपुर में डीएसपी सहित आठ पुलिसकर्मियों की मौत का कारण बना

कानपुर में विकास दुबे को गिरफ़्तार करने गई पुलिस टीम पर हुए ज़बर्दस्त हमले में आठ पुलिसकर्मी मारे गए और सात पुलिसकर्मी गंभीर रूप से घायल हो गए.

मरने वालों में बिल्हौर के पुलिस क्षेत्राधिकारी देवेंद्र मिश्र और एसओ शिवराजपुर महेश यादव भी शामिल हैं. जिस विकास दुबे को गिरफ़्तार करने यह टीम गई थी, उन पर न सिर्फ़ अपराधों के संगीन आरोप हैं बल्कि दर्जनों मुक़दमे भी दर्ज हैं. राजनीतिक दलों में भी उनकी अच्छी-ख़ासी पहुंच बताई जाती है.

कानपुर के चौबेपुर थाने में विकास दुबे के ख़िलाफ़ कुल साठ मुक़दमे दर्ज हैं. इनमें हत्या और हत्या के प्रयास जैसे कई गंभीर मुक़दमे भी शामिल हैं.

कानपुर के पुलिस महानिरीक्षक मोहित अग्रवाल ने बीबीसी को बताया कि जिस मामले में पुलिस विकास दुबे के यहां दबिश डालने गई थी वह भी हत्या से जुड़ा मामला था और विकास दुबे उसमें नामज़द हैं.

चौबेपुर थाने में दर्ज मुक़दमों के आधार पर कहा जा सकता है कि पिछले क़रीब तीन दशक से अपराध की दुनिया से विकास दुबे का नाम जुड़ा हुआ है. कई बार उनकी गिरफ़्तारी भी हुई लेकिन अब तक किसी मामले में सज़ा नहीं मिल सकी है.